SEO Friendly Article Kaise Likhe, SEO Friendly क्या है और SEO Friendly Article कैसे लिखे SEO Friendly kya hai?
Spread the love

SEO Friendly Article क्या है और SEO Friendly Article Kaise Likhe –इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे हैं कि SEO Friendly Article क्या है और SEO Friendly Article कैसे लिखे  जो Google में Fast रैंक करें और साथ ही Organic Traffic, आ पाए इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे और यदि आप SEO क्या है नहीं जानते हैं तो जरूर पढ़ें।

ज्यादातर ब्लॉगर नया ब्लॉग बनाकर पोस्ट लिखना शुरू कर देते हैं और आगे चलकर उन्हें Organic Traffic नहीं मिलता है जिसका मुख्य कारण SEO Friendly Article ना लिखने के कारण होता है इसलिए Blog बनाने के बाद यह आपको जरूर सीखना चाहिए की Optimize Blog Post कैसे लिखते हैं।



यदि आप Optimize Blog Post लिखेंगे तो आपके पोस्ट Google में Rank करेंगे और आपको गूगल से ट्रैफिक भी मिलेगा साथ ही साथ Earning भी बढ़ जाएगी तो Overall देखा जाए इसके कई फायदे हैं इसलिए चलिए जानते हैं कि SEO Friendly Article क्या है और SEO Friendly Article कैसे लिखे.

SEO Friendly Article क्या है?

SEO का आर्टिकल मतलब Search Engine Optimization होता है और SEO फ्रेंडली आर्टिकल ऐसा आर्टिकल होता है,  जिसे सर्च इंजन में अच्छी पोजीशन में रैंक करवाने के लिए ऑप्टिमाइज़ किया गया होता है.

SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखने का मुख्य ऑब्जेक्टिव अपने आर्टिकल को सर्च इंजन बोट्स को बेहतर तरीके से समझाना होता है ताकि बोट्स आपके आर्टिकल को समझकर उसे सही keywords पर उससे हमारे Blog Post Google पर Top Position पर Rank करते हैं तो इस प्रकार के लिखे गए पोस्ट को SEO Friendly Article कहते हैं

SEO Friendly Article Kaise Likhe?

यहां पर आप SEO Friendly Article लिख रहे हैं, इसका मतलब यह होता है कि आप गूगल को बता रहे है कि आपका आर्टिकल किस टॉपिक पर लिखा गया है, इसके जरिए Content को Search Engine के लिए Optimize कर रहे हो जिससे बहुत सारे फायदे हैं जैसे Site का ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ेगा, आर्टिकल सर्च करने पर गूगल के पहले पेज पर दिखेगा और साथ ही साथ Income भी बढ़ेगा।

#1 Keyword Research

आपका Keyword है और अगला Question आता है कि हम Keyword Research कैसे करें?  Keyword रिसर्च करने के लिए आप गूगल की मदद ले सकते हैं जैसे कि आप गूगल में कुछ भी सर्च करने जाएंगे तो नीचे Suggested Keywords दिखाता है वहां से Topic उठा सकते हैं और साथ ही साथ आप Google Keyword Planner का Use कर सकते हैं जो बिल्कुल फ्री है वहां से आप Competition और साथ ही साथ Traffic भी चेक कर सकते हैं।

कीवर्ड रिसर्च करने के लिए Ubbersuggest भी अच्छा tool है जहां से आप CPC, Traffic और Seo Difficulty को आसानी से चेक कर सकते हैं लेकिन यह Tool केवल तीन या चार Keyword रिसर्च करने के लिए 1 दिन में Allow करता है।

#2 Keyword को Title में रखें

जिस Keyword को आप Target कर रहे हैं उस Keyword को अपने आर्टिकल के Title में जरूर रखें इसे गूगल को समझने में आसानी होती है कि आप ने किस टॉपिक पर पोस्ट लिख रहे हैं। Focus Keyword में जो Keyword आप टारगेट कर रहे हैं उसी कीवर्ड को आप अपने Post Title में रखना होता है इससे आपके आर्टिकल जल्दी Rank करते हैं।

#3 पहले Paragraph में Keyword का इस्तेमाल करें

जब आप आर्टिकल लिखना शुरू करते हैं तो अपने आपने आर्टिकल के शुरुआती 10% Content में अपना फोकस कीवर्ड जरूर लिखे यह SEO के हिसाब से काफी Important होता है लेकिन एक चीज का ध्यान भी दें Keyword का Placement Natural ही करना चाहिए Sentence का रूप या Meaning नहीं बदलना चाहिए।

पहले पैराग्राफ में अपने Keyword को लिखने में आपको यह फायदा होता है कि गूगल के सर्च रिजल्ट में आपका फोकस की बोर्ड होने जिस की वजह से ये Rank करता है और यह Automatically Meta Description का काम करता है आप चाहे तो Plugin के Through भी मेटा Description Generate कर सकते हैं।

#4 Heading और Sub-Heading (H2,H3) का प्रयोग करें

Heading और Sub-Heading का प्रयोग करना अपने आप में एक Seo का बहुत बड़ा काम हो जाता है क्योंकि Heading से ही Reader को पता चल जाता है इस पोस्ट में क्या लिखा गया है। H2, H3 Heading Tag में आप अपने फोकस कीवर्ड से मिलते जुलते Keyword को Add करें जैसे मान लीजिए मेरा फोकस Keyword है SEO Friendly Article कैसे लिखें तो हम Heading में Seo Optimized Blog Post कैसे लिखें इसे लिख सकते हैं।

#5 Related Keyword को Bold करें

अगर आप कोई आर्टिकल लिखते हैं तो उसमें बहुत से रिलेटेड Keyword भी Automatically Add हो जाते हैं जिसे आपको Bold कर देना चाहिए इससे Reader की उस पर नजर पड़ती है और साथ ही साथ गूगल की भी और आसानी से यह दोनों समझ पाते हैं की पोस्ट के अंदर क्या लिखा जा रहा है।

#6 Table Of Contents का Use करें

आप चाहे ब्लॉगर यूजर हो या वर्डप्रेस यूजर आपको Table of Contents जरूर Use करना चाहिए इससे Google और Reader Content के Topic समझने में आसानी होती है। यदि पोस्ट आपका बड़ा है और यूजर को केवल किसी एक Particular Heading को पढ़ने की जरूरत है तो वह टेबल आफ कंटेंट्स की मदद से अपने Required Data को Direct Visit करके पढ़ सकता है।



Read More 

#7 Outbound Links to High Quality Sites

आप एक आर्टिकल लिख रहे हैं जिसका नाम है “वर्डप्रेस वेबसाइट कैसे बनाएं” तो इसमें आप वर्डप्रेस को किसी दूसरे Site के साथ लिंक कर सकते हैं जैसे वह लिंक विकिपीडिया का हो सकता है क्योंकि एक High Quality Site है और गूगल भी इसे बहुत ज्यादा Prefer करता है। बहुत सारे ऐसे Sites जैसे Microsoft, Apple, Facebook,यह सब High Quality Sites है, इन सभी के साथ अपने Sites के link add कर सकते हैं।

#8 Internal Linking करें

आप जिस टॉपिक से Related आप Article लिखते हैं उसी से Related Article का Link अपने पोस्ट में जरूर है जैसे आप ब्लॉगिंग के बारे में लिख रहे हैं तो ब्लॉगिंग से रिलेटेड Other पोस्ट को Interlinking करें.  इससे आपका Bounce Rate कम होगा और साथ ही साथ ट्रैफिक में बढ़ोतरी होगी।

इंटरनल लिंकिंग का एक और फायदा है यदि आप किसी रैंक Article का लिंक किसी दूसरे पोस्ट में डालते हैं,  तो वह पोस्ट भी आपका धीरे धीरे गूगल में रैंक होने लगता है।

#9 Post URL Optimize करें

आप ब्लॉग पोस्ट के URL को Focus Keyword यानी कि Targeted Keyword के अनुसार ही Set करें, आपकी URL में टॉपिक से रिलेटेड Keyword होना चाहिए कोशिश करें आपके Article का URL ज्यादा बड़ा ना हो। 70 से 75 Word का Permalink अच्छा माना जाता है।

#10 Meta Description Add करें

  • आप Article लिखते हो तो शुरुआत के पैराग्राफ में अपना फोकस Keyword Add करते हो But Blogger में Article लिखते टाइम Search Box का Section होता है जिसमें आपको 160 वर्ड का मेटा Description Add करना होता है
  • जिसमें आप अपने फोकस Keyword को जरूर डालें उससे WordPress में भी Search Description की जगह पर Excerpt का Option होता है
  • जिस मेटा Description की तरह ही समझ सकते हैं इसमें भी 160 वर्ड का Description Focus Keyword के साथ जरूर Add करें इससे आपके Article रैंक होते हैं।

#11 FAQ Schema Add करें

अगर आप किसी टॉपिक से रिलेटेड रीडर के पास बहुत से Question होते हैं जो गूगल में सर्च किया जाता है इसीलिए FAQ Schema Blog Post में डालकर उन सभी Question का Answer किया जा सकता है, इससे आपके Blog का Traffic भी Increase होता है और साथ ही साथ गूगल में आपका आर्टिकल Rich Snippets के साथ Rank करता है।

#12 Images में Alt Tag का इस्तेमाल करें

आप अपने Blog Post के अंदर बहुत सारे Images का Use कर रहे हैं तो उन Images के अंदर Alt Tag का इस्तेमाल जरूर करें, इससे Google को समझ में आता है कि यह Image किसके बारे में दर्शाया जा रहा है और  जब गूगल यह सारी चीजें समझ पाता है तो आपके Image Google में Index हो जाते हैं और Images के Through भी आपको ट्रैफिक मिलने लगता है।

#13 Bullet Points का उपयोग करे

List बनाने के लिए Bullet Points का प्रयोग करे या अगर नंबर है तो Number Bullet Points का प्रयोग करे। इससे Search Engine को आसनी से पता चल पता है की आप एक लिस्ट के जरिये बताने की कोसिस कर रहे हो और

ये सारी चीज़े कंटेंट को Attractive के साथ SEO Friendly Article भी बनाता है।

SEO Friendly Article के फायदे

  • SEO-friendly article उन लेखों को कहते हैं जो वेबसाइट अथवा ब्लॉग पर published होने के बाद, सर्च इंजन रैंकिंग में ऊपर आने में मदद करते हैं। इसके लिए,
  • लेखकों को अपनी लेखन शैली और लेख की विषय-वस्तु के साथ-साथ सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) के नियमों और मानकों का ध्यान रखना होता है।
  • कुछ अहम टिप्स समारोह रूप में निम्नलिखित हैं, जो SEO-friendly लेख लिखने में मदद कर सकते हैं:
  • विषय वस्तु की विस्तृत खोज करें और अच्छी तरह से लेख लिखें।
  • Keyword रिसर्च करें और इस्तेमाल करें, इसे लेख के शीर्षक, विषय वस्तु और उपशीर्षक में विवेचित किया जा सकता है।
  • लेख के संरचना को सही ढंग से व्यवस्थित करें। शीर्षक, उपशीर्षक, sectionऔर अधिक बार उल्लेख होने वाले शब्दों के लिए हाइपरलिंक इस्तेमाल करें।
  • आकर्षक मीडिया इंटरफ़ेस जोड़ें जैसे छवि, वीडियो और ग्राफिक्स।



FAQs SEO Friendly Article Kya Hai

Q – User Friendly ब्लॉग पोस्ट और SEO Friendly Article ब्लॉग पोस्ट में क्या अंतर होता है?

Ans. User friendly का मतलब है जो User के Question का सही उत्तर दे, जबकि SEO Friendly Article सर्च इंजन के लिए लिखा जाता है वैसे यह दोनो ही रैंकिंग के लिए काफी जरूरी है।

Q – SEO Friendly Article कितने शब्दो का होना चाहिए?

Ans. यहाँ SEO Friendly Article Blog Post लिखने में शब्दों (Blog Post Words Count) की कोई गिनती मैटर नही करती है बस आपको उस पोस्ट की पूरी जानकारी देनी है सिर्फ लम्बा पोस्ट लिखना ही SEO Friendly Article नही होता है।

Q – क्या ब्लॉग पोस्ट SEO Friendly Article होना जरूरी होता है?

Ans. तो हाँ यह बिल्कुल जरूरी है क्योकि SEO Friendly Article Blog Post से गूगल और User दोनो को समझने में आसानी रहती है जहाँ User को अपने प्रश्न का उत्तर बेहतर ढंग से मिलता है।

Q – क्या इतना SEO Friendly Article Blog Post लिखने से गूगल में रैंक कर सकते है?

Ans. जी हाँ, इससे रैंकिंग में काफी फर्क देखने को मिलेगा लेकिन आप पहले नंबर पर रैंक कर जायेंगे इसकी गारंटी नही है क्योकि आपके जैसे SEO Friendly Article Blog Post लिखने वाले बहुत से लोग है जिसकी पोस्ट में ज्यादा दम होगी वो पहले नंबर पर रैंक करेंगा।

आप ने आज क्या सीखा 

दोस्तों आपको आज मैंने बताया की SEO Friendly Article क्या है और SEO Friendly Article कैसे लिखे मैंने आपके साथ सारे जरुरी Content Optimization SEO Factors को Share करने की हमारी कोशिस है की आपको समझ आया होगा। की

अगर आप किसी भी तरह का प्रश्न पूछना चाहते है तो आप हमें कमेंट के जरिये जरूर पूछे औरआपने दोस्तों को पोस्ट शेयर अगर आप को आज की जानकारी पसंद आई  हो तो कमेंट करे और अपने सोशल मीडिया पे शेयर जरूर करे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *