Domain Name Kya Hai ? , Domain Name Kya Hai , Domain Name क्या है ? , What is Domain Name , Domain Name की आवश्यकता क्यों होती है? , Domain Name कैसे काम करता है , How Does a Domain Name Work , Domain Name का इतिहास , Domain के प्रकार , Types Of Domains , TLD – Top Level Domains , Example TLD Extension के जिससे कोई भी खरीद सकता है , CcTLD – Country Code Top Level Domains , Country Code Top Level Domains (CcTLD) List , Sub Domain क्या हैं? , उदाहरण के तौर पर गूगल के Sub domain देखिए , Domain Name और URL में अंतर Kya Hai , Top Domain Name Provider List , Domain नाम कैसे बनाये , Domain Name Kya Hai? Types Of Domains , Domain Name और URL में अंतर Kya Hai? , What is Domain Name ?
Spread the love

Domain Name Kya Hai ? Types Of Domains :- दोस्तों अगर आप एक Blogger है तो आपने Domain के बारे मे जरूर सुना होगा । लेकिन क्या Domain के बारे मे आपको पूरी जानकारी है।  और अगर आप एक Blogger है तो आपको ये पता होगा की Website के लिए Domain कितना जरूरी है। 

लेकिन नए Bloggers को Web Development करने मैं बड़ी परेशानी होती है। अगर आप एक Blogger है और आप अभी तक Domain के बारे मैं नहीं जानते है तो कोई बात नहीं। आज हम आपको इस Artical मे Domain के बारे मे पूरी जानकारी देंगे।



Domain Name Kya Hai ? | What Is Domain Name

दोस्तों Website के Name को ही हम Domain कहते है जैसे की techysir.com , Amazon.com आदि। दरअसल Domain हमारे Wedsite का Addres होता है। Domain Name से ही internat पर website की पहचान होती है । जैसे की हर इंसान को उसके Name से जाना जाता है उसी तरह से किसी Website को उसके Domain Name से पेहचाना जाता है।

Domain Name की आवश्यकता क्यों होती है

यदि आपका अपना एक Business है या फिर आप एक Organization चलाते है तो आप Domain Name से internet की दुंनिया मे अच्छा Name कमा सकते है । Domain Name  खरीदने के बाद आपका Business , Organization, लोगो तक पहुंचाने मे ज़्यदा दिक्कत नहीं होती है। इससे आपके ब्रांड की जागरूकता बढ़ती है, और आपका ब्रांड सुरक्षित रहता है। और सर्च इंजन में आपकी ब्रांडिग बढ़ती है।

Domain Name कैसे काम करता है | How Does a Domain Name Work

आपकी Website के साथ जो भी Domain Connect होता है। उसका सारा Data एक Server मे इकटठा होता है। Domain उस Server के IP के साथ जुड़ा हुआ होता है। जब भी आप अपने या किसी अन्य Domain को URL Bar में टाइप करते है, तो Domain Name की मदद से आपके Server का IP आपके Data को Point करता है, जिसकी वजह से आपके सामने Domain  Name टाइप करने पर आपक आपकी Website ब्राउज़र में दिख जाती है।




Domain Name का इतिहास

आज से कुछ सालों पहले तक जब Domain Name नहीं हुआ करता था तब लोग आईपी एड्रेस के माध्यम से वेबसाइट पर जाया करते थे लेकिन जैसे-जैसे वेबसाइट की संख्या बढ़ती गई, लोगों को हर वेबसाइट की आईपी ऐड्रेस याद करने में मुश्किल होने लगी इसलिए Domain Name सिस्टम को बनाया गया।

1983 में Paul Mockapetris नाम के वैज्ञानिक ने Domain Name सिस्टम का निर्माण किया, DNS के आने के बाद उपयोगकर्ताओं को वेबसाइट एक्सेस करने में बहुत आसानी होने लगी, जहां वो पहले लंबे-लंबे आईपी ऐड्रेस को याद करके वेबसाइट पर जाया करते थे, अब केवल एक नाम लिखकर सीधा वेबसाइट के अंदर चला जाया करते हैं।

 Domain Name सिस्टम बनने के बाद इंटरनेट को एक नई ताकत मिली जिसके कारण उपयोगकर्ताओं की संख्या बढ़ने लगी और इंटरनेट का जोरों शोरों से उपयोग होने लगा, आज पूरी दुनिया में 366 million से भी ज्यादा Domain Name खरीदें जा चुके हैं।

इसे भी पड़े :- SSL Certificate क्या होता है? Types of SSL Certificate

Domain के प्रकार | Types Of Domains

अगर बात की जाये Types Of Domains की तो आज मैं आपको उन सभी Types के बारे मे बताऊंगा जो बहुत ही महत्पूर्ण है। ताकि आपको Domain Name Choose करते वक्त परेशानी ना हो।

#1 TLD – Top Level Domains

TLD ( Top Level Domains ) को हम Internet Domain Extension के Name से भी जाना जाता है। ये Domain name के Last मे होता है ( techysir.com ) जैसे Dot के बाद वाल हिस्सा। इस Domain Name की मदद से आप आपने Website को आसानी से Rank करवा सकते है। और Domain Name को Google भी ज्यादा important देता है।

Example TLD Extension के जिससे कोई भी खरीद सकता है

  • .com (commercial)
  • .org (organization)
  • .net (network)
  • gov (government)
  • .edu (education)
  • .name (name)
  • .biz (business)
  • .info (information)

उदहारण के लिए  Amazon.com , Facebook.com , techysir.com

#2 CcTLD – Country Code Top Level Domains

ऐसे ही Domain का use किसी देश के लिए  किया जाता है। आमतौर पर किसी देश के User को Target करने के लिए किया जाता है। अगर आप अपने किसी बिज़नेस को सिर्फ भारत में ही Grow करना चाहते है, तो आप .in का उपयोग कर सकते है।  ये देश के Two Letter ISO CODE के आधार पर दर्ज होता है ।

Country Code Top Level Domains (CcTLD) List

  • .in (India)
  • .us (United States)
  • .sg (Singapore)
  • .jp (Japan)
  • .nz (New Zealand)
  • .ch Switzerland
  • .cn China
  • .sa (Saudi Arabia)
  • .ru Russia
  • .au (Australia)
  • .uk (United Kingdom)
  • .br (Brazil)

#3 Sub Domain क्या हैं?

Domain Name से ही सब Domain Name बनाया जाता है। एक ही Domain Name का इस्तेमाल करके कई सारे Website बनाना सब Domainकहलाता हैं। जैसे कि Google.com एक Website है और drive.google.com उसका सब Domain  Name हैं। एक Domain  Name खरीद कर आप कई सारे भिन्न-भिन्न सब Domain  बना सकते हैं।

उदाहरण के तौर पर गूगल के Sub domain देखिए

  • video.google.com
  • groups.google.com
  • docs.google.com
  • translate.google.com
  • images.google.com
  • mail.google.com
  • news.google.com
  • Drive.google.com
  • Analitics.google.com

Domain Name और URL में अंतर Kya Hai

Website के Name को Domain कहते है जबकि URL उस Website के वेब पेजेस का पूरा पता होता है। हालाँकि URL में Domain Name भी शामिल होता है। क्योकि URL के माध्यम से ही Website के किसी भी पेज तक जाया जा सकता है। लेकिन Domain Name की मदद से आप सीधे Website में जाते हैं।

DomainName किसी को भी बताया जा सकता है। क्योंकि यह छोटा होता है इसलिए यह जल्दी याद हो जाता है। वहीं URL बड़ा और लम्बा होता है इसे याद रख पाना बहुत मुश्किल होता हैं। अगर Website के किसी पेज को शेयर करना है तो हम उस पेज का URL शेयर करेंगे।



Top Domain Name Provider List

अगर आप खुद के लिए या अपने बिज़नस के लिए website बनाना चाहते हैं तो आप खुद भी Domain Name खरीद सकते हैं, लेकिन उसके लिए आपको किसी अच्छे Domain Name Service Provider से domain में Account Register कर के नया और unique Domain Name खरीदना होगा. निचे मैंने कुछ टॉप Domain Providers की list दे रखी है.आप इन में से किसी को भी चुन सकते हैं.

  • Bigrock
  • GoDaddy
  • Com
  • Com
  • Namecheap
  • 1and1
  • In
  • Znetlive
  • EWeb Guru
  • IPage

Domain नाम कैसे बनाये

  1. हमेशा Short Domain Name का चुनाव करें जो याद रखने में आसान हो.
  2. ऐसा Domain name रखें जो की याद रखने, टाइप करने and बोलने मे easy हो.
  3. किसी दूसरे से मिलता जुलता Domain name न हो और तो और काफी Unique हो जिससे आप आसानी से brand कर सकें.
  4. इस name मे special character जैसे की hyphen and numbers को यथा संभव न रखें.
  5. हमेशा Top Level Domains लेने की कोशिश करे की जिससे की पूरी दुनिया में सभी लोग पहचानते है.
  6. आपका Domain name आपके business या business profile से संभंधित या मिलता जुलता होना चाहिए इससे आपको brand बनाने में आसानी होगी.

आकिर में मैं आप लोगों को यह बताना चाहता हूँ की Domain name को हमेशा छोटा और आसानी से याद रहने वाला address होना चाहिए. सही में server का technical address है IP (Internet Protocol Address).

इसे भी पड़े :-  Website Par Traffic Kaise Badhaye ? Top 10 Important Tips 2023

FAQ:- Domain Name Kya Hai? Types Of Domains 

आज हम ने सीखा

तो दोस्तों मेने आपको इस artical मे मेने Domain Name Kya Hai? Types Of Domains के बारे मे बताया है। अगर आपको ये artical अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें ताकि वो भी Domain name को लेने से पहले इसके बारे में जान सकें.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *