Blog क्या है और Blogging कैसे करें, Blogging Kaise Shuru Kare,
Spread the love

आज हम सीखेंगे Blogging क्या है Blogging Kaise Shuru Kare? इससे पहले इस पोस्ट को आप पढ़ना शुरू करें कुछ शक को जान लीजिए। अगर ब्लॉगिंग सही प्रकार से करी जाए तो आपको किसी अन्य नौकरी की जरुरत नहीं पड़ेगी।आप महीने का इतना पैसा कमा सकते हैं जितना कि एक नॉर्मल आदमी 1 साल में कमाता है।



लेकिन इतना बड़ा ब्लॉग बनाने के लिए आपको किन-किन मुस्किलो से गुजारना पड़ेगा और आपको क्या-क्या करना होगा सभी बातों का इस पोस्ट  में बताया गया है। इस पोस्ट Blogging क्या है Blogging कैसे शुरू करें?को अंत तक अगर आप सही तरीके से पढ़ ले तो आपको ब्लॉगिंग से जुड़ी कोई भी समस्या नहीं रहेगी और आप इससे पैसे कमाने के तरीके भी सीख जाएंगे।तो दोस्तों पोस्ट को शुरू करते है Blogging क्या है

Read More

Blog Kya Hai in Hindi – Blog क्या है 

ब्लॉग या (web log) असल में एक ऐसा वेबसाइट होता है जिसे की लगातार अपडेट  किया जाता है, वहीँ इसमें नए कंटेंट को अक्सर पब्लिश किया जाता रहता है ब्लॉगर के द्वारा. वहीँ ब्लॉग को एक इनफॉर्मल या conversational style (आम बातचीत करने वाली शैली) में लिखा जाता है।

वहीँ इसका निशाना ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपनी और आकर्षित करने का होता है और साथ ही कुछ लक्ष्य को हासिल करने का होता है, वो चाहे एक बड़ी ही community-building हो या एक business को grow करना, या लोगों को सही जानकारी पहुँचाना भी हो सकता है।

Blogging Kya Hai? – ब्लॉगिंग क्या है ?

ब्लॉग पर ब्लॉगर द्वारा नए-नए पोस्ट को पब्लिश किया जाता है की प्रक्रिया को ब्लॉगिंग कहते हैं। ब्लॉगिंग करना बहुत ही आसान है आप सोच रहे होंगे कि आपको वेबसाइट बनाना या फिर ब्लॉग बनाना नहीं आता आपको कोडिंग या Programming करना नहीं आता तो आप ब्लॉगर बन सकते तो फिर आपका सोचना बिल्कुल गलत है। 

इंटरनेट की दुनिया में ऐसे प्लेटफार्म उपलब्ध हैं जहां पर आपको कोडिंग और प्रोग्रामिंग की जरूरत नहीं है इसके बिना भी आप ब्लॉग शुरू कर सकते हैं।

Blogging के प्रकार

Blogging दो प्रकार की होती है-

  • Event Blogging (इवेंट ब्लॉगिंग)
  • Permanent Blogging (परमानेंट ब्लॉगिंग)
1. Event Blogging (इवेंट ब्लॉगिंग)

इवेंट ब्लॉगिंग सिर्फ कुछ दिन के लिए ही की जाती है। इवेंट ब्लॉगिंग से कम समय में ज्यादा कमाई कर सकते हैं। यह ब्लॉगिंग सिर्फ त्यौहार या फिर कोई Special दिन के लिए की जाती है। उदाहरण के लिए दिवाली पर बनाई गई Wishing Website को व्हाट्सएप, फेसबुक या फिर किसी भी सोशल मीडिया पर वायरल किया जाता है और जो कोई भी इस विशिंग वेबसाइट पर जाता है तो वहां पर गूगल के विज्ञापन दिखाए जाते हैं इससे कम समय में अच्छी खासी कमाई हो जाती है।

2. Permanent Blogging (परमानेंट ब्लॉगिंग)

परमानेंट ब्लॉगिंग करने के लिए बहुत ज्यादा टाइम लगता है और इसमें बहुत ज्यादा पोस्ट डालने पड़ते हैं परमानेंट ब्लॉगिंग में पेशेंस रखना पड़ता है लोग ज्यादातर परमानेंट ब्लॉगिंग ही करते हैं ताकि उन्हें लाइफ टाइम तक इसका फायदा हो। अगर आप इस तरह की ब्लॉगिंग में ज्यादा मेहनत और सब्र रखेंगे तो आपको बहुत अच्छे परिणाम भी मिलेंगे।

उदाहरण के तौर पर जैसा कि आप मेरा ही ब्लॉग देख लीजिए यह एक परमानेंट ब्लॉग है और इस पर मैं नए-नए आर्टिकल्स हमेशा आपके लिए पब्लिश करता रहता हूं और यहां पर लोग गूगल से सर्च करके आते हैं और हमारी पोस्ट को पढ़ते हैं।

Blogger Kya Hai?- ब्लॉगर क्या है 

एक व्यक्ति जो एक ब्लॉग का मालिक है या उसका प्रबंधन करता है, उसे ब्लॉगर कहा जाता है।

  • एक ब्लॉगर वह व्यक्ति होता है, जो वेबलॉग में सामग्री लिखता है (जिसे संक्षिप्त में ब्लॉग कहा जाता है)। ब्लॉग में लिखना अक्सर ब्लॉगिंग के रूप में जाना जाता है।
  • उदाहरण के लिए, यदि आपके पास वर्डप्रेस पर एक ब्लॉग है और आप अपने दिन के बारे में एक नई पोस्ट बनाते हैं तो आप एक ब्लॉगर हैं जो अपने दिन के बारे में “ब्लॉगिंग” कर रहे हैं।
  • पहले मुझे ये लगता था की ब्लॉग पोस्ट लिखना ही ब्लॉग्गिंग है, लेकिन आज के समय में ब्लॉग्गिंग कई नये स्वरुप में आ रही है।



History of Blog – Blog का इतिहास

  • शुरुआत में, एक ब्लॉग व्यक्तिगत डायरी से अधिक कुछ भी नहीं था।
  • जिसे लोगों द्वारा ऑनलाइन अन्य चीजे साझा किया जाता  था, और यह 1994 के आस पास शुरू हुआ।
  • 1999 में दो लोकप्रिय ब्लॉगिंग वेबसाईट का जन्म हुआ था.
  • इसी साल Blogger.com लॉन्च की गई थी, जिसे बाद में फरवरी 2003 में Google ने खरीद लिया और उसी साल WordPress ने भी अपना पहला संस्करण जारी किया था.
  • आज के समय में वर्डप्रेस दुनिया का सबसे लोकप्रिय ब्लॉगिंग प्लेटफार्म है. दुनिया भर में वर्डप्रेस इस्तिमाल करने की संख्या 30% से ज्यादा है।

Blogging कैसे शुरू करे? – Blogging Kaise Shuru Kare in Hindi

दोस्तों ब्लॉगिंग करने के लिए मैं आपको कुछ आसान से तरीके बताते है। ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको एक टॉपिक सिलेक्ट करना होगा जिस पर आप माहिर हैं उस टॉपिक को सेलेक्ट कर लीजिए।

अगर आप किसी दूसरे टॉपिक पर जाते हैं तो उसमें आपका कोई फायदा नहीं है क्योंकि आप दूसरे टॉपिक को लोगों के सामने अच्छे से नहीं रख पाएंगे इसीलिए आप अपने अंदर के हुनर को पहचाने और उसी से संबंधित ब्लॉग बनाइए

अब आपने एक टॉपिक सेलेक्ट कर लिया अब आपको आपके ब्लॉग पर उस टॉपिक से ही सम्बंधित सारे पोस्ट पब्लिश करने हैं याद रखें दोस्तों कोई दूसरे टॉपिक पर आप पोस्ट ना लिखें जिससे आपकी ब्लॉग की गूगल रैंकिंग कम होगी।ब्लॉगिंग में दो चीजों की आवश्यकता होती है पहला Domain और दूसरा Web Hosting.

Domain Kya Hoti Hoi ?- डोमेन क्या होता है 

Domain एक प्रकार का ब्लॉग का नाम होता है जैसा कि आप हमारा ब्लॉग देख रहे हैं तो यह एक डोमेन है डोमेन आपको फ्री में भी मिलता है और कुछ डोमेन आपको खरीदने भी पढ़ते हैं।

Web Hosting Kya Hoti Hai- वेब होस्टिंग क्या होती है

होस्टिंग एक प्रकार का कंप्यूटर होता है जो हमेशा ऑनलाइन रहता है और आपके ब्लॉग का सारा डाटा होस्टिंग में ही स्टोर रहता है। आप अपने ब्लॉग पर जितने भी पोस्ट लिखते हैं या कोई भी काम करते हैं तो वह सारी पोस्ट आपके होस्टिंग में स्टोर रहती है जब कोई यूजर आपकी वेबसाइट तक आता है और वह आपकी वेबसाइट पर किसी भी पोस्ट पर क्लिक करता है तो वहां पर उसको एक पेज खुल जाता है वह पेज होस्टिंग से उसको दर्शाया जाता है

फ्री में Blogging कैसे करें?

अगर आप एक शुरुआत कर रहे हैं तो आपको फ्री में ब्लॉगिंग शुरू करना चाहिए। मैं आपको इस पोस्ट में बता  है की Blogging Kya Hai? अब मैं आपको बताऊंगी  की फ्री में ब्लॉगिंग कैसे करें? फ्री में ब्लॉगिंग करने के लिए बहुत सारे प्लेटफार्म उपलब्ध हैं।

Blogger.com एक फ्री वेबसाइट बनाने का प्लेटफार्म है इसमें आपको डोमेन और होस्टिंग कुछ भी खरीदना नहीं पड़ता यह सब आपको Blogger.com की तरफ से फ्री में मिलता है। मेरे अनुभव के हिसाब से अगर आपके पास बजट नहीं है तो आप पहले ब्लॉगर से शुरू कीजिए उसके बाद जब आपके पास कुछ अनुभव और पैसा आ जाए तब आप होस्टिंग और डोमेन खरीद कर WordPress पर शिफ्ट हो जाइए।

Benefits of blogging – ब्लॉगिंग करने के क्या फायदे हैं ?

दोस्तों Blogging करने के बहुत सारे फायदे |

  • ब्लॉगिंग करने से आपको अपने फील्ड में महारत हासिल होती है । मतलब की आप अपने फील्ड में और मजबूत ज्ञान पाते हैं ।
  • आपको अपने विचार और अच्छे से प्रकट करने की शैली आती है ।
  • आप बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं । अगर आप बहुत सारे लोगों तक अपना ब्लॉग पहुंचा पाए । और Google में अपनी वेबसाइट या ब्लॉग रैंक करवा पाए ।
  • आपको ब्लॉगिंग करने से सबसे बड़ा फायदा यह होता है। कि दुनिया भर में लोग आपको जानते हैं ।
  • अगर आप लोगों को अपनी बातों से खुश कर पाए तो आपका नाम अपने आप ही हर जगह फैलने लगता है ।




फ्री में Blogging से पैसे कैसे कमाए?

सबसे पहले Blogger.com पर रजिस्टर कर लीजिए।

  • उसके बाद आपको एक अच्छा सा टेम्पलेट चुन लेना है।
  • अपने ब्लॉग को अच्छे से कस्टमाइज कर लीजिए।
  • आप के हुनर के हिसाब से इस ब्लॉग पर अच्छे-अच्छे पोस्ट रोज अपडेट कीजिए।
  • अपनी वेबसाइट को Google Webmaster Tool में सबमिट कीजिए।
  • अपने ब्लॉग पर SEO करके गूगल पर रैंक करवाइए।
  • अब आप अपनी वेबसाइट को Google AdSense के द्वारा अप्रूवल करवाइए।
  • गूगल ऐडसेंस से अप्रूव होने के बाद अपने ब्लॉग पर विज्ञापन को लगा दीजिए।
  • गूगल ऐडसेंस में अपना पता वेरीफाई करवाना होगा और उसके बाद अपना बैंक अकाउंट नंबर भी सबमिट करना होगा।
  • जब आपकी गूगल ऐडसेंस में $100 पूरे हो जायेंगे उसके बाद ऐडसेंस ऑटोमेटिक आपके अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर देगा।

Blog और सीएमएस के बीच अंतर?

  • सॉफ़्टवेयर जो आपकी वेबसाइट को मैनेज करने का एक तरीका प्रदान करता है उसे आमतौर पर सीएमएस या “Content Management System” कहा जाता है। कई ब्लॉगिंग सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम को एक विशिष्ट प्रकार का CMS माना जाता है।
  • वे एक ब्लॉग बनाने और बनाए रखने के लिए आवश्यक सुविधाएँ प्रदान करते हैं, और इंटरनेट पर पब्लिशर्स को एक लेख लिखने, इसे एक शीर्षक देने और इसे (एक या अधिक) कैटेगरी के तहत व्यवस्थित करने के रूप में सरल बना सकते हैं।
  • जबकि कुछ सीएमएस कार्यक्रम विशाल और एडवांस सुविधाएँ प्रदान करते हैं, एक बुनियादी ब्लॉगिंग टूल एक इंटरफ़ेस प्रदान करता है जहाँ आप एक आसान और कुछ हद तक, सहज तरीके से काम कर सकते हैं, जबकि यह आपकी रचना को प्रस्तुत करने योग्य और सार्वजनिक रूप से उपलब्ध कराने में शामिल चीजों को संभालता है।
  • दूसरे शब्दों में, आप जो लिखना चाहते हैं उस पर आपका ध्यान केंद्रित हो जाता है, और ब्लॉगिंग टूल बाकी साइट मैनेजमेंट का ख्याल रखता है।
  • वर्डप्रेस एक ऐसा एडवांस ब्लॉगिंग टूल है और यह सुविधाओं का एक समृद्ध सेट प्रदान करता है। इसकीA dministration Screen के माध्यम से, आप अपने वेबलॉग के व्यवहार और प्रस्तुति के लिए विकल्प सेट कर सकते हैं।
  • इन Administration Screen के माध्यम से, आप आसानी से एक ब्लॉग पोस्ट लिख सकते हैं, एक बटन दबा सकते हैं, और तुरंत इंटरनेट पर प्रकाशित हो सकते हैं।
  • वर्डप्रेस को यह देखने में बहुत परेशानी होती है कि आपके ब्लॉग पोस्ट अच्छे दिखते हैं, टेक्स्ट सुंदर दिखता है, और एचटीएमएल कोड जो इसे उत्पन्न करता है वह वेब मानकों के अनुरूप है।
  • आपको पता होगा की आज बहुत से लोग पढ़ने के अलावा वीडियो देखना या सुनना अधिक पसंद करते हैं। इसीलिए आज आप वीडियो व्लॉगस और पॉडकास्ट का बहुत प्रचलन देख रहे हैं।
  • मुझे उम्मीद है जो नए ब्लॉगर हैं या जो ब्लॉग्गिंग को समझना चाहते हैं, इस पोस्ट को पढ़कर उन्हें बहुत मदद मिली होगी। और आप समझ गए होंगे की Blogging Kya Hai?
  • अगर ब्लॉग्गिंग से जुडी आपकी कोई समस्या या सुझाव है तो तो कमेंट में मुझे जरूर बताएं। हैप्पी ब्लॉग्गिंग !

FAQs Blog Kya Hai

Q: Blog क्या होता है?

A: ब्लॉग एक वेबसाइट होती है जो नियमित रूप से अपडेट होती है और एक या एक से अधिक लेखक द्वारा निर्मित किए जाते हैं। ब्लॉग में विभिन्न विषयों पर लेख शेयर किए जाते हैं और पाठक टिप्पणियों और प्रतिक्रियाओं के माध्यम से संवाद में शामिल होते हैं।

Q: Blog कैसे शुरू करें?

A: ब्लॉग शुरू करने के लिए आपको एक डोमेन नाम खरीदना और वेब होस्टिंग सेवा खरीदना होगा। फिर आप ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म जैसे WordPress, Blogger या Wix जैसे कुछ उपलब्ध विकल्पों का चयन कर सकते हैं।

Q: Blog क्यों लिखा जाता है?

A: ब्लॉग लेखन कई उद्देश्यों के लिए किया जाता है, जैसे कि अपने विचारों को व्यक्त करना, अपनी देखने को बांटना, व्यापार या ब्रांड को प्रमोट करना, या सिर्फ मनोरंजन के लिए।

Q: Blogging कैसे शुरू करे?

A: ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले आपको एक टॉपिक सिलेक्ट करना होगा जिस पर आप माहिर हैं उस टॉपिक को सेलेक्ट कर लीजिए

Q: ब्लॉगर क्या है

A: एक व्यक्ति जो एक ब्लॉग का मालिक है या उसका प्रबंधन करता है, उसे ब्लॉगर कहा जाता है।

Q: Blogging के कितने प्रकार होते है

A: ब्लॉगिंग दो प्रकार की होती है-

  • Event Blogging (इवेंट ब्लॉगिंग)
  • Permanent Blogging (परमानेंट ब्लॉगिंग)




आज आप ने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Blogging क्या है Blogging Kaise Shuru Kare? जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को प्रोफेशनल Blogging के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है।

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *